Saturday, September 17, 2011

दगी भर जिंदगी से शिकवा न करना, खुदा को सरेआम यूँ बेहया न करना ।

दगी भर जिंदगी से शिकवा न करना,
खुदा को सरेआम यूँ बेहया न करना ।

उसकी मेहर को मिल्कियत मानने वाले,
साँसों को सरजमीन से अलहदा न करना।

जोश-औ-जुनूं बटे हैं सबमें हीं एक से,
हिम्मत से बदसलूकी तो बेवज़ा न करना।

अब तक करे है तू तकदीर का रोना,
अंधी सरपरस्ती तू इस दफा न करना।

इम्तिहां और इत्मीनान सीखकर उससे,
रात को सुबह का तू रास्ता न करना।

बरबस हीं बेबसी बन जाए है तेरी,
रिंदों को घरौंदे का यूँ हमनवा न करना।

’तन्हा’ ,लिबास रेशमी मिल गया तुझे,
खुदा की नेमतों को बस वाक्या न करना।

-विश्व दीपक ’तन्हा’

1 comment:

Anonymous said...

Most powerful&cost effective SEO service in world get up to 100K backlinks now!
Get incredible web traffic using best xrumer service today. We can post your custom message up to 100K forums around the web, get insane amount of backlinks and incredible web traffic in very short time. Most affordable and most powerful service for web traffic and backlinks in the world!!!!
Your post will be published up to 100000 forums worldwide your website will get insatnt traffic and massive increase in seo rankings just after few days or weeks. Order now:
xrumer

Vertical Bar

c6284600b2c4504c4700725ae468c08f7f18e548a102af1d31

Popular Posts